तेज सिर दर्द की दवा, इलाज, उपाय | Sir Dard Ka Ilaj {Headache} in Hindi

आधा सिर दर्द की दवा, इलाज, उपाय, कारण और योगासन

घर पर करें सिर दर्द का इलाज : आजकल के तनाव भरे माहौल और असंतुलित दिनचर्या की वजह से सिर दर्द होना एक बेहद आम समस्या है| गौर करने वाले बात यह है कि आधुनिक मेडिकल में सिर दर्द का परमानेंट इलाज आज भी उपलब्ध नहीं है परन्तु घरेलू नुस्खों के इस्तेमाल करने व नियमित व्यायाम से सिर दर्द का इलाज किया जा सकता है|

Sir Dard Ka Ilaj in Hindi

क्या होता है सिर का दर्द

सिर दर्द को “शिरपीड़ा” और अंग्रेजी में Headache भी कहा जाता है| सिर का दर्द हमारे सिर के किसी भी हिस्से में हो सकता है, कुछ लोगों को आधा सिर दर्द, तो वहीँ कुछ लोगों को पूरे सर में दर्द की शिकायत रहती है|

हालाँकि सिर दर्द गंभीर समस्या नहीं है और यह कई सामान्य कारणों से हो सकता है परन्तु जिन लोगों को बार बार सिर में दर्द होने की शिकायत रहती है उनके लिए यह परेशानी का विषय है और इसकी जांच जरुरी है|

भयंकर तेज सिर दर्द है तो यह माइग्रेन, ब्रेन स्ट्रोक हो सकता है इसकी फ़ौरन जांच करा लें

सिर दर्द में कारण

सिर में दर्द, हमारी जीवनशैली पर भी निर्भर करता है| आज कल छोटे बच्चों से लेकर बड़े बुजुर्ग लोग भी इससे पीड़ित हैं| यूँ कहिये कि हर व्यक्ति को जीवन में कभी ना कभी सिर दर्द होता ही है, तो आइये जानें सिर दर्द के मुख्य कारण –

1. तनाव भरी जिंदगी
2. लगातार किसी बात के बारे में सोचना
3. साइनस की वजह से
4. पित्त बढ़ जाने की वजह से
5. एनर्जी वाली गंध सूंघने से
6. माइग्रेन होना
7. दवाइयों के रिएक्शन से
8. घंटों तक दिमागी काम करने से
9. जरुरत से अधिक मेहनत करने से
10. मौसम बदलने की वजह से
11. बीमार होने की वजह से
12. थकान की वजह से
13. तेज शोरगुल की वजह से
14. आनुवंशिकता की वजह से
15. तेज धूप या लू लगने की वजह से

90 प्रतिशत लोगों को सिर में दर्द तनाव के कारण होता है| तनाव में हमारे मस्तिष्क की मांसपेशियां सिकुड़ने लगती हैं और रक्त का बहाव कम हो जाता है, इससे सिर में दर्द की स्थिति पैदा हो जाती है|

सिर दर्द का इलाज करने के लिए घरेलू उपाय और दवा

अक्सर देखा जाता है कि कुछ लोग सिर दर्द की दवाएं हमेशा साथ लेकर चलते हैं और जब भी सिर में दर्द हो तुरंत अंग्रेजी दवाई के सेवन कर लेते हैं| ये दवाइयां ज्यादातर “पेन किलर” होती हैं जो थोड़े समय के लिए आपको दर्द का अनुभव नहीं होने देतीं परन्तु कुछ दिन बाद यह दर्द आपको वापस फिर से होने लगेगा और हाँ, लगातार इस प्रकार से दवाओं का सेवन करने से आपकी किडनी खराब भी हो सकती है|

यहाँ हम आपको सिर का दर्द दूर करने के देसी घरेलू उपचारों के बारे में बताने जा रहे हैं, ये सभी उपाय एकदम प्राकृतिक हैं जिनका कोई भी साइड इफेक्ट भी नहीं है –

आजवाइन से करें सिर दर्द का इलाज

आजवाइन हर घर की रसोई में मौजूद रहती है, अब इस आजवाइन की मदद से ही आप सिर दर्द का इलाज भी कर सकते हैं| दो चम्मच आजवाइन के चूर्ण को तवे का भून लें और अब इस भूनी आजवाइन को एक सूती कपड़े में लपेटकर इसकी पोटली बना लें| इस पोटली से अपने सिर की सिकाई करें या फिर इस पोटली को सूंघें| ऐसा करने से सिर के दर्द में तुरंत राहत मिलती है|

अदरक दूर करती है सिर का दर्द

अदरक अर्थात Ginger में एंटी इन्फ्लामेट्री तत्व पाये होते हैं जो कि सिर की रक्त वाहनियों की सूजन और दर्द को कम करने में बहुत मददगार होते हैं| अदरक को पीसकर इसका रस निकाल लें और इस रस का अपने माथे पर लेप करें, इससे आपको सिर दर्द में राहत मिलेगी|

अदरक का दूसरा उपाय – एक चम्मच अदरक का रस लेकर उसमें आधा चम्मच नींबू का रस मिला दें| अब दोनों को मिक्स करके इसका सेवन करें, इससे भी आपको तुरंत लाभ होगा|

अदरक का तीसरा उपाय – अदरक को कूटकर उसे एक गिलास पानी में डालें| अब इस पानी को उबालने के लिए रख दें, 5 मिनट तक उबालने के बाद बर्तन को गैस से नीचे उतार लें और छानकर इस इस काढ़े का सेवन करें| इस काढ़े में थोड़ा सा शुद्ध शहद भी मिला सकते हैं|

तुलसी की पत्तियां हैं सिर दर्द में लाभदायक

तुलसी एक बहुत प्रसिद्ध जड़ी बूटी और औषधि है जो अनेकों रोगों के इलाज में काम आती है| तुलसी को स्वर्ग का पौधा कहा जाता है क्यूंकि तुलसी हजारों बिमारियों की रामबाण दवाई है| साथ ही तुलसी में दर्द निवारक तत्व भी पाए जाते हैं जिससे सिर के दर्द में तुरंत राहत मिलती है|

तुलसी की 10 पत्तियां लेकर उन्हें पानी में उबाल लें| पानी को तब तक उबालते रहें जब तक पानी आधा ना रह जाये, अब इस पानी से तुलसी के पत्तों को छान लें और इसमें थोड़ा शुद्ध शहद मिलाकर इसका सेवन करें| इससे नुस्खे से चुटकियों में आपका सिर दर्द गायब हो जायेगा|

सेब करता है सिर दर्द का उपचार

कुछ लोगों को सुबह जागते ही तेज सिर दर्द का अनुभव होता है, इस प्रकार का दर्द साइनस का भी हो सकता है| ऐसे में सुबह एक सेब को काटकर उसपर नमक लगाकर खाया जाए तो सिर के दर्द में राहत मिलती हैा अंग्रेजी दवाओं के सेवन की तुलना में यह उपचार बेहद लाभदायक और आसान है|

दालचीनी का करें इस्तेमाल

दालचीनी को हम मसाले के रुप में जानते हैं और यह हम सबके घरों में पायी जाती है| दालचीनी का पाउडर बनाकर इसमें थोड़ा सा पानी मिलाएं और एक गाढ़ा लेप तैयार कर लें| इस लेप को अपने माथे पर लगाएं, थोड़ी देर तक ऐसे ही रहने दें| इस तरीके से भी सिर के दर्द में आराम मिलता है|

पुदीने की पत्तियों की काढ़ा पियें

पुदीना बेहद सुगन्धित जड़ी बूटी है, हम सभी इससे भली भांति परिचित भी होंगे| पुदीने के पत्तों को लेकर एक गिलास पानी में डालें और इस पानी को गर्म करें| थोड़ी देर में पुदीने के पत्तों के गुण पानी में आ जायेंगे| अब इस पानी से पुदीना के पत्तों को छानकर निकाल दें और इस पानी का सेवन करें, इससे आपका सिर दर्द ठीक हो जायेगा|

लौंग करती है सिर दर्द का नाश

लौंग को एक बहुत अच्छी दर्द निवारक दवा माना जाता है| लौंग में एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी-वायरल, जीवाणुरोधी, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-सेप्टिक, कवकरोधी और एनाल्जेसिक तत्व पाए जाते हैं तो आइये करते हैं लौंग से सिर दर्द का उपचार –

हल्का सिर में दर्द हो तो लौंग का पाउडर बनाकर इसे सूंघने से सिर दर्द में तुरंत राहत मिलती है| घर पर इस नुस्खे को जरूर आजमाएं|

तेज सिर दर्द हो तो लौंग के तेल में थोड़ा नारियल का तेल मिला लें| अब दोनों को मिक्स करके माथे और सिर पर इसका लेप करें, इससे भी दर्द में आराम मिलता है|

नीलगिरि के तेल से करें मालिश

नीलगिरी के तेल को भी आयुर्वेद में एक अच्छा दर्द निवारक कहा गया है| नीलगिरी के तेल की कुछ बूंदें लेकर उससे अपने माथे व सिर पर मालिश करें, इससे आपका दर्द तुरंत गायब हो जायेगा| सिर के दर्द का यह आजमाया हुआ नुस्खा है|

नींबू पानी भी करता है सिर दर्द का इलाज

कुछ लोगों को तेज धूप में निकलते ही सिर में दर्द होने लगता है| ऐसे लोगों के लिए नींबू पानी पीना सबसे बढ़िया उपचार है| जब भी आप धूप में से वापस घर पर आएं तो एक गिलास ताजा पानी में एक नींबू निचोड़ लें| अब इसमें अपने स्वादानुसार थोड़ा नमक और चीनी भी मिला लें| अब इसका सेवन करने से आपको सिर में दर्द नहीं होगा|

बाहर धूप में घूमने से हमारे शरीर में साल्ट की कमी हो जाती है जिसकी वजह से सिर दर्द हो जाता है, तो आप हमेशा नींबू पानी का सेवन करना ना भूलें|

देसी घी से करें सिर दर्द का इलाज

गाय का देसी घी भी दर्द निवारक होता है और कई प्रकार के लोगों में यह लाभ पहुंचाता है| जिन लोगों को आधासीसी का दर्द (अर्थात आधे सिर का दर्द) की शिकायत हो, वह इस घरेलू नुस्खे का इस्तेमाल जरूर करें|

रक रुई के फाहे को शुध्द देसी घी में डुबोएं और इस रुई के फाहे से दो – तीन बूंद घी नाक के छिद्रों में डालें| अगर नाक में घी डालना नहीं चाहते तो रुई के फाहे को देसी भी में डुबोकर इसे सूंघें| इससे आधासीसी के दर्द की पीड़ा तुरंत कम हो जायेगी|

अगर देसी का उपलब्ध नहीं है तो इसका अच्छा विल्कप है – “सरसों का तेल”… जी हाँ शुद्ध सरसों के तेल में रुई का फाहा डुबोकर, दो – तीन बूंद नाक के छिद्रों में डालें अथवा रुई के फाहे को सूंघें, इससे भी सिर के दर्द में आराम मिलता है|

योगासन से करें सिर का दर्द दूर

बाबा रामदेव के अनुसार सिर के दर्द के लिए सबसे बेहतरीन उपाय है योगा करना| दवाइयां आपको कुछ देर के लिए राहत दे सकती हैं लेकिन योग से आप हर प्रकार की बीमारी को परमानेंट रुप से ठीक कर सकते हैं|

बाबा रामदेव ने सिर का दर्द दूर करने के लिए दो अच्छे योगा बताये हैं – अनुलोम विलोम और भ्रामरी प्राणायाम। इन दोनों योगासनों के बारे में विस्तार से जानने के लिए इस लेख को पढ़ें –

कभी कभी होने वाला सिर दर्द एक सामान्य बात है परन्तु अगर यह बार बार होता हो तो इसकी डॉक्टरी जांच जरुर कराएँ क्यूंकि है माइग्रेन हो सकता है जो कि एक जानलेवा बिमारी है|

नींद पूरी जरुर लें

शहर में लोग अपने कामकाज में इतने व्यस्त होते हैं कि वह नींद पूरी नहीं करते जिससे हमारे दिमाग को आराम नहीं मिल पाता| जब दिमाग थकने लगता है तो सिर दर्द की स्थिति पैदा हो जाती है इसलिए रात को समय से सोएं और 6 से 8 घंटे की नींद पूरी अवश्य करें|

निष्कर्ष – तो मित्रों अब आपको समझ में आ गया होगा कि सिर दर्द क्यों होता है और इसके इलाज क्या हैं… खुद को हमेशा टेंशन फ्री रखें क्यूंकि यही चीज़ आपके सिर को दर्द से भर देती है और इस लेख से आपको लाभ मिला हो तो इसे अपने सोशल मिडिया पर भी शेयर करें ताकि अन्य लोग भी इसका लाभ उठा सकें| निरोगीजीवन से जुड़े रहिये….धन्यवाद!!

घर पर करें इन नुस्खों का भी इस्तेमाल –
हाई बीपी के लक्षण, कारण, आहार
कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय
हाई बीपी का इलाज, दवा, घरेलू उपचार
सिगरेट कैसे छोड़े, जानिए 10 आसान उपाय
गर्भवती महिला के लिए भोजन, आहार लिस्ट
101% टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के उपाय, घरेलू तरीके
उल्टी रोकने के उपाय व जी मिचलाना का इलाज
ये हैं चिकनगुनिया के लक्षण, घरेलू उपचार
बहती नाक को रोकने के घरेलू उपाय नुस्खे
पेट की गैस की अचूक दवा, घरेलू उपाय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 + 12 =