पेट दर्द की दवा, इलाज और पेट में दर्द के प्रमुख कारण

आजवाइन, काला नमक, छाछ और नींबू को पेट दर्द की दवा के रुप में जाना जाता है| भयानक तेज पेट दर्द का इलाज करने के लिए कई घरेलू नुस्खे हमारे आयुर्वेद में बताये गए हैं जिनके इस्तेमाल से बहुत जल्दी पेट दर्द की पीड़ा दूर हो जाती है| पेट दर्द एक बहुत सामान्य समस्या है जिसका सामना हर व्यक्ति को कभी ना कभी करना ही होता है|

Pet Dard Ka Ilaj

पेट में दर्द का कारण

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग खानपान का बिल्कुल भी ध्यान नहीं रखते| हमारा शरीर भी एक मशीन की तरह है अगर आप उसमें अच्छा पौष्टिक भोजन नहीं डालेंगे तो आपको दिक्कतों का सामना करना ही पड़ेगा| आज के युग में लोग केवल पेट भरने के लिए भोजन करते हैं उनको यह नहीं पता कि जो वह खा रहे हैं वह शुद्ध और लाभकारी भी है या नहीं|

यही ख़राब खाना जब हमारे पेट में पहुँचता है तो हमारे पाचन तंत्र को इसे पचाने में दिक्कत होती है और यही पेट दर्द का कारण बनता है| इसके अलावा भी पेट दर्द के कई कारण होते हैं, आइये जानें –

1. बहुत अधिक खाना खा लेना
2. पाचन तंत्र की खराबी
3. किडनी में पथरी
4. पेट में अल्सर
5. पेट में कब्ज होना
6. बासी खाना खा लेना
7. अधिक फ़ास्ट फ़ूड का इस्तेमाल
8. आँतों में सूजन
9. महिलाओं में मासिक धर्म का होना
10. गर्भवती होना
11. गर्भाशय में दिक्कत होना
12. पेट में वायु विकार
13. पेट में अम्लता का बढ़ना
14. पित्ताशय में पथरी होना
15. पेट में अपच हो जाना
16. फ़ूड पॉइजनिंग होना
17. पेट में कीड़े होना

ये सभी पेट में दर्द होने के बेहद सामान्य कारण है| अगर पेट में दर्द बहुत ज्यादा है तो इसे हल्के में ना लें और तुरंत इसकी जांच कराएं क्यूंकि हो सकता है कि यह दर्द किसी असामान्य कारण की वजह से हो रहा हो|

पेट में दर्द किसी बीमारी के कारण तो नहीं हो रहा ?

जब पेट में तेज दर्द हो तो काम में भी मन नहीं लगता और रोगी को लेटकर, बैठकर किसी भी स्थिति में आराम नहीं मिलता है| पेट में दर्द का उपचार करने के लिए सबसे पहले आप ये सुनिश्चित कर लें कि आपको पेट दर्द किस वजह से हो रहा है –

पेट में बायीं ओर दर्द होना – अगर आपको पेट में बायीं ओर दर्द होता है और यह दर्द अक्सर ही होता रहता है तो इसका कारण किडनी का रोग हो सकता है| पेट म बायीं ओर दर्द का होना किडनी में पथरी या किडनी में खराबी की ओर इशारा करता है| इसकी जांच आपको फ़ौरन डॉक्टर से करानी चाहिए|

पेट में दायीं ओर दर्द होना – जिन लोगों को पेट में दायीं ओर दर्द रहता है उन्हें भी सावधान हो जाना चाहिए क्यूंकि यह अपेंडिसाइटिस का लक्षण है| अपेंडिसाइटिस में व्यक्ति की छोटी या बड़ी आँतों में परेशानी आने लगती है इसकी भी जांच जरुरी है|

पेट में नीचे की ओर दर्द होना – अक्सर महिलाओं को पेट में नीचे की ओर दर्द की शिकायत रहती है| इस प्रकार का दर्द मासिक धर्म के समय होता है, इसके अलावा पेट में नीचे की ओर होने वाला यह दर्द गर्भाशय में गड़बड़ी की ओर भी इशारा करता है|

पेट में ऊपर की ओर दर्द होना – लोगों को सबसे ज्यादा दर्द पेट में ऊपर की ओर ही होता है| इस दर्द का मुख्य कारण होता है – पेट में गैस का बनना या अपच हो जाना| पेट में जब कब्ज बहुत अधिक हो जाती है तो पेट के ऊपरी हिस्से में तेज दर्द होने लगता है|

पेट में बीचों बीच दर्द होना – पेट में बीच में दर्द होना भी सामान्य नहीं है यह पेट में “अल्सर” की ओर इशारा करता है| जरुरी नहीं कि पेट में बीचों बीच दर्द हो तो यह अल्सर ही हो क्यूंकि कई बार पेट में अम्लता बढ़ने और गैस की वजह से भी पेट के बीचों बीच दर्द होने लगता है|

पेट में एकदम नीचे की ओर दर्द होना – पेट में बिल्कुल नीचे अर्थात मूत्राशय के पास दर्द हो तो यह मूत्राशय में गड़बड़ी की ओर इशारा करता है| मूत्राशय में पथरी होने पर भी पेट के एकदम नीचे की ओर दर्द होने लगता है|

इस प्रकार आप अपने पेट दर्द होने की वजह जान सकते हैं| वैसे तो पेट का दर्द कुछ ही समय में आसानी से ठीक हो जाता है परन्तु अगर यह लगातार रहता हो या लम्बे समय से ठीक ना हो रहा हो तो डॉक्टरी चैकअप जरुरी है ताकि सही रोग का पता लगाया जा सके|

पेट में दर्द का इलाज करने के घरेलू नुस्खे

अक्सर लोग पेट में दर्द होते ही सीधे किसी मेडिकल स्टोर पर जाते हैं और अंदाजे से ही कोई दवाई ले लेते हैं| इस प्रकार की दवाइयां आपके शरीर में रिएक्शन भी कर सकती हैं और अन्य अंगों को नुकसान भी पहुंचा सकती हैं इसलिए देसी नुस्खों का इस्तेमाल करें| देसी नुस्खे आजमाने में आसान, सस्ते होते हैं, साथ ही इनका शरीर पर कोई भी नकारात्मक प्रभाव नहीं होता है| तो आइये जानें पेट दर्द के घरेलू नुस्खे –

आजवाइन से करें पेट दर्द का इलाज

एक चम्मच अजवाइन लेकर उसको बारीक़ कूट लें और इसका चूर्ण बना लें| आजवाइन के इस चूर्ण को एक गिलास पानी में डालें, अब इसमें एक चुटकी नमक, एक चुटकी चीनी और एक ताजा नींबू का रस मिला लें| इस इस घोल को चम्मच से अच्छी तरह मिक्स कर लें|

जब भी पेट में दर्द हो तो आजवाइन के इस पानी का सेवन करें| यह घोल इतना लाभकारी है कि मात्र 2 मिनट में आपके पेट की गैस और अम्लता को दूर कर देगा| आजवाइन को पेट दर्द में बहुत विशेष औषधि के रुप में जाना जाता है|

अदरक करता है पेट दर्द का इलाज

अदरक के रस में पेट दर्द से लड़ने की शक्ति होती है| पेट में दर्द उठने पर रोगी को एक चम्मच अदरक के रस में करीब दो चम्मच नींबू का रस मिलाकर पिला दें| अगर नींबू उपलब्ध ना हो तो एक चम्मच अदरक के रस के साथ एक चम्मच शहद मिलाकर रोगी को सेवन करा दें| इससे उसे तुरंत आराम मिलेगा|

हींग है पेट दर्द की दवा

घरों में सब्जी में हींग का रोजाना इस्तेमाल किया जाता है| हींग भी पेट दर्द की एक अच्छी दवा होती है| एक गिलास गुनगुने पानी के साथ आधा चुटकी हींग की फांक मारने से पेट का दर्द दूर हो जाता है|

हल्दी करती है पेट दर्द का उपचार

हल्दी को प्राकृतिक दर्द निवारक औषधि के रुप में जाना जाता है| हल्दी शरीर में होने वाले हर प्रकार के दर्द को दूर करती है, इसमें एंटी बायोटिक और एंटी बैक्टीरियल तत्व पाये जाते हैं जो पेट के दर्द को ठीक करने में रोगी की मदद करते हैं|

एक चम्मच हल्दी पाउडर लें और इसके साथ में एक चम्मच काला पिसा हुआ नमक लें और हल्के गर्म पानी के साथ इनका सेवन करें, इससे भी पेट में दर्द और मरोड़े की समस्या खत्म हो जाती है|

केले का सेवन करें

केले को पेट के लिए बहुत अच्छा फल माना जाता है| केला पेट की गर्मी को दूर करता है और पाचन तंत्र की शक्ति को बढ़ाता है| अक्सर दस्त होने पर रोगी को पेट में दर्द और मरोड़ होने लगते हैं| केला खाने से पेट के मरोड़ और दर्द दोनों दूर हो जाते हैं|

तुलसी के पत्तों का सेवन करें

तुलसी के पत्तों को हजारों रोगों की दवा कहा गया है| तुलसी के रस में एंटी बैक्टीरियल तत्व होते हैं जो पेट की अशुद्धियों को दूर करके दर्द का नाश करते हैं| दस से पंद्रह तुलसी के पत्ते लेकर उनका रस निकाल लें| इस प्रकार, दर्द होने पर एक चम्मच तुलसी के रस का सेवन कर लें इससे पेट दर्द में आराम मिलता है|

प्याज के रस का सेवन करें

प्याज का रस भी पेट दर्द की समस्या को दूर करता है| प्याज के रस में थोड़ा काला नमक मिलाकर इसका सेवन करें इससे पेट दर्द में रोगी को आराम मिलेगा| यह नुस्खा कब्ज या एसिडिटी से लड़ने में भी मदद करता है|

छाछ का सेवन करें

छाछ अर्थात मठा, गाँव में लोग दोपहर के खाने के साथ छाछ का सेवन जरूर करते हैं| छाछ में एक चम्मच आजवाइन पीसकर मिला लें और पेट दर्द होने पर इसका सेवन कर लें इससे बढ़ा हुआ पित्त तुरंत सामान्य स्थिति में आ जाता है|

सबसे अधिक पेट दर्द “पित्त की गड़बड़ी” की वजह से होता है और आजवाइन ऐसी औषधि है जो पित्त को कंट्रोल करने में रामबाण का कार्य करती है इसलिए दोपहर के भोजन में आजवाइन का सेवन जरूर करें|

खाना धीरे धीरे खायें

आजकल लोगों के पास समय की कमी है, लोग खाना खाने को भी पर्याप्त समय नहीं देते और बहुत तेजी से खाना खाते हैं| जो लोग धीरे-धीरे आराम से भोजन करते हैं उनको कभी पेट में दर्द की समस्या होती ही नहीं है| इसलिए भोजन को पर्याप्त समय दें, छोटे- छोटे टुकड़े खाएं और खूब चबाने के बाद ही खाना अंदर निगलें|

अमरुद का सेवन करें

अमरुद पेट की कब्ज को दूर करने के लिए बहुत ही अच्छा फल है| बाबा रामदेव कहते हैं कि पेट में दर्द हो तो अमरुद का सेवन जरूर करिये क्यूंकि यह कब्ज से लड़ने में बहुत अधिक मदद करता है|

सेब के सेवन से दूर होता है पेट दर्द

जिन लोगों को पेट में हमेशा गड़बड़ी रहती है उनको सेब का खूब चबा- चबा कर सेवन करना चाहिए| रोजाना सुबह खाली पेट एक सेब खा लिए जाए तो जीवन में कभी कब्ज, एसिडिटी और पेट दर्द की समस्या आपको होगी ही नहीं, और हाँ सेब को छिलके सहित ही खाएं|

पानी का सेवन भरपूर करें

पानी हमारे शरीर से अशुद्धियों को बाहर निकालने का कार्य करता है| साथ ही पानी हमारे पाचन तंत्र को भोजन पचाने में भी मदद करता है| इसलिए रोजाना 8 से 12 गिलास पानी का सेवन जरूर करें|

साथ ही सुबह खाली पेट 2 से 4 गिलास पानी का सेवन करने से पेट पूरी तरह साफ़ हो जाता है जिससे गैस होने के चांस बेहद कम हो जाते हैं तो मित्रों पानी जरूर पियें|

अंतिम संदेश – मित्रों इस लेख में हमने आपको पेट दर्द से जुड़ी कई महत्वपूर्ण बातें बतायीं और पेट दर्द की समस्या से लड़ने के लिए घरेलू इलाजों के बारे में भी विस्तार से चर्चा की है| हमें आशा है कि आपको यह लेख बहुत पसंद आएगा| आपसे निवेदन है कि इस लेख को अपने सोशल मिडिया पर भी शेयर करें ताकि अन्य लोग भी इसका लाभ उठा सकें| धन्यवाद!!

कुछ आसान घरेलू टिप्स भी देखें –
पेट की गैस की अचूक दवा, घरेलू उपाय
नपुंसकता का उपचार, इलाज, दवा और मुख्य कारण
लो ब्लड प्रेशर के लक्षण, दवा, उपचार
चेहरे के दाग धब्बे मिटाने के उपाय
तेज सिर दर्द की दवा, इलाज, उपाय
हाई बीपी के लक्षण, कारण, आहार
ये हैं कोलेस्ट्रॉल के लक्षण, इलाज
हाई बीपी का इलाज, दवा, घरेलू उपचार
सिगरेट कैसे छोड़े, जानिए 10 आसान उपाय
गर्भवती महिला के लिए भोजन, आहार लिस्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 1 =