हाई बीपी के लक्षण, कारण, आहार और रक्तचाप स्तर की जानकारी

सिर चकराना, धड़कनें तेज होना, सांस फूल जाना, जी घबराना ये सभी हाई बीपी के लक्षण हैं| अक्सर बढ़ती उम्र में लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होने लगती है इसका मुख्य कारण है तनावभरी जिंदगी होना| आजकल के माहौल में बुजुर्ग ही नहीं बल्कि युवा वर्ग के लोग भी हाई बीपी के शिकार हो रहे हैं|

High Blood Pressure Ke Lakshan

क्या होता है हाई बीपी

हाई बीपी, दरअसल हृदय से जुडी बीमारी है| हमारे हृदय का मुख्य कार्य होता है रक्त को पम्प करना और पूरे शरीर में रक्त का संचरण बनाये रखना| हृदय, रक्त वाहनियों (धमनियों) के माध्यम से शरीर के प्रत्येक अंग में रक्त को भेजता है| जब धमनियों में रक्त का दबाब सामान्य से अधिक हो जाता है तो दिल पर जोर पड़ने लगता है और हृदय अपनी स्पीड को और बढ़ाने की कोशिश करता है| इसी स्थिति को हाई बीपी कहा जाता है|

हाई बीपी के कारण होता है हार्ट अटैक

जब धमनियों पर दवाब बहुत ही अधिक हो जाता है तो हृदय अपनी स्पीड को बढ़ा देता है और पूरी ताकत से रक्त को पम्प करने की कोशिश करता है परन्तु अगर धमनियों में दबाब बहुत ज्यादा होगा तो रक्त का संचरण होगा ही नहीं, हृदय अपनी पूरी शक्ति लगाता है परन्तु एक समय के बाद हमारा दिल काम करना बंद कर देता है इसी स्थिति को हार्ट अटैक कहा जाता है|

हाई बीपी के मरीजों को हार्ट अटैक आने की संभावना बढ़ जाती है|

ब्लड प्रेशर (बीपी) हाई होने के कारण

पुराने समय में हाई ब्लडप्रेशर की समस्या केवल 50 वर्ष या उससे अधिक आयु के लोगों को ही होता था परन्तु आज के समय में जवान लोगों को भी इस बीमारी ने अपना शिकार बनाया हुआ है, इसके मुख्य कारण ये हैं –

1. अत्यधिक तनाव भरी जिंदगी
2. शुगर की बीमारी
3. व्यायाम ना करना
4. नमक का अधिक सेवन करना
5. जनक फ़ूड और तला भूना खाने का अधिक सेवन
6. मोटापा
7. हृदय से जुड़ा कोई रोग होना
8. हाइपरटेंशन
9. धूम्रपान या शराब का सेवन
10. किडनी रोग
11. बढ़ती उम्र
12. नींद कम लेना
13. अधिक दवाओं का सेवन
14. गर्भावस्था होना

अंत में एक मुख्य कारण है “आनुवंशिकता” – जी हाँ अगर आपके परिवार में पहले से किसी को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो ऐसी संभावना है कि आपको भी हाई बीपी की समस्या हो सकती है|

हाई बीपी के लक्षण

जब हम थोड़ी मेहनत करते हैं तो थोड़े समय के लिए हमारा ब्लड प्रेशर हाई हो जाता है और बाद में यह सामान्य भी हो जाता है| जब हाई बीपी की समस्या लगातार होने लगती है तो इसके कुछ लक्षण दिखाई देते हैं जो इस प्रकार हैं –

1. सिर के पिछले हिस्से में तेज दर्द होना
2. घबराहट महसूस होना
3. जी का घबराना
4. चक्कर आना
5. धड़कन बहुत अधिक तेज हो जाना
6. हाथ पैर कांपना
7. सिर के किसी हिस्से में तेज दर्द
8. नाक से खून आना
9. थकान होना
10. सीने में दर्द उठना
11. धड़कन कभी तेज कभी धीमी (यानि अनियंत्रित) होना
12. सांस लेने में दिक्कत महसूस होना
13. हाथ पैरों में झन्नाहट और पसीना आना
14. समझने और बोलने में दिक्कत महसूस होना
15. दिमाग की नसें फड़कना
16. बहुत अधिक तनाव महसूस करना…आदि

हाई बीपी में मरीज को इनमें से कई प्रकार के लक्षण दिखाई दे सकते हैं| कुछ मरीजों में यह लक्षण दिखाई नहीं देते लेकिन जब ब्लड प्रेशर बहुत अधिक बढ़ जाता है तो दिल का दौरा, हार्ट अटैक, ब्रेन हैमरेज और दिमाग की नस फटना जैसी खतरनाक और जानलेवा परेशानियां हो सकती हैं|

हाई ब्लड प्रेशर की समस्या स्त्रियों की अपेक्षा पुरुषों में अधिक होती है

रक्तचाप का स्तर कितना होना चाहिए

ब्लड प्रेशर की दिक्कत किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकती है इसलिए यह जानना बेहद जरुरी है कि सामान्य व्यक्ति का रक्तचाप कितना होना चाहिए| अपना ब्लड प्रेशर की जांच कराने के लिए आपको डॉक्टर से संपर्क करना होगा| डॉक्टर के पास एक इलेक्ट्रॉनिक यंत्र होता है जिसके पट्टे को बांह पर बांध दिया जाता है| अब धमनियों के संकुचन और फैलाव की जांच करके ब्लड प्रेशर को एक रीडिंग में नापा जाता है|

सामान्य रक्तचाप –

युवा वर्ग के लोगों का ब्लडप्रेशर – 120/80 एम एम एच जी
वृद्ध लोगों का ब्लडप्रेशर – 140/90 एम एम एच जी

High Blood Level in Hindi

ऊपर दी गयी तालिका से आपको समझ में आ जायेगा कि आपका ब्लड प्रेशर हाई है या फिर नहीं|

जरुरी सलाह – 45 या इससे अधिक आयु वाले लोग नियमित रूप से रक्तचाप की जांच करायें क्यूंकि कई बार इस बीमारी के लक्षण दिखाई नहीं देते परन्तु परिणाम गंभीर हो सकते हैं|

हाई बीपी में क्या करें और क्या ना करें

क्या करें –

1. शाकाहारी भोजन ही करें
2. तरबूज, संतरा, अनानास, नींबू, पपीता आदि खाएं
3. उच्च कैल्शियम और फाइबर वाली चीज़ें खाएं
4. नियमित व्यायाम करें
5. रोजाना एक कली कच्चे लहसुन की चबाएं
6. तरबूज के बीजों का सेवन करें
7. कपालभाति और अनुलोम विलोम प्राणायाम करें

क्या ना करें –
1. उच्च वसा वाली चीज़ें ना खायें
2. मांस का सेवन ना करें
3. नमक का सेवन बहुत कम करें
4. तनाव में ना रहें
5. मलाई युक्त दूध और क्रीम का सेवन ना करें
6. मीठा खाना कम करें
7. मैदा से बनी चीज़ों का सेवन कम करें
8. नशा करना छोड़ें
9. जंक फ़ूड और तला भूना खाना ना खायें
10. देर रात तक जागना छोड़े

रोजाना 6 से 8 घंटे की गहरी नींद जरूर लें| गहरी नींद लेने वाले लोगों को ब्लड प्रेशर की समस्या होने के चांस कम हो जाते हैं|

अचार का सेवन ना करें – अचार में नमक की मात्रा बहुत अधिक होती है जिसकी वजह से उसमें सोडियम की मात्रा बहुत ज्यादा हो जाती है| सोडियम आपके ब्लड प्रेशर के लिए बेहद ही खतरनाक है इसलिए अचार का सेवन एकदम ना करें|

ब्लड प्रेशर तुरंत नार्मल करने का सबसे आसान तरीका

यूँ तो बाजार में हाई बीपी की कई दवाइयां मौजूद हैं परन्तु अगर घर पर किसी व्यक्ति को अचानक हाई बीपी की शिकायत होने लगे तो आपको क्या करना है –

1. आधा गिलास पानी में, आधा नींबू काटकर निचोड़ लें और मरीज को इस पानी का सेवन कराएं| इसके बाद हर दो घंटे में नींबू पानी का सेवन कराते रहें इससे रोगी को बहुत आराम मिलेगा|

2. या फिर आधा गिलास गुनगुने पानी में आधा चम्मच काली मिर्च का पाउडर मिलाकर रोगी को पिला दें, इससे भी रक्तचाप का स्तर सामान्य हो जाता है| यह दोनों हाई ब्लड प्रेशर के प्राथमिक उपचार हैं|

तो मित्रों इस लेख में हमने आपको हाई बीपी के लक्षण, कारण और इसके बारे में कई जानकारियां दीं हैं| हम आशा करते हैं कि आपको ये सभी टिप्स बहुत अधिक पसंद आयी होंगी| इन जानकारियों को अपने सोशल मिडिया पर भी शेयर करें ताकि अन्य लोग भी इसका लाभ उठा सकें| धन्यवाद!!

घर में काम आने वाले नुस्खे –
हाई बीपी का इलाज, दवा, घरेलू उपचार
ये हैं कोलेस्ट्रॉल के लक्षण, इलाज
धूम्रपान छोड़ने के उपाय, दवा और गारंटीड तरीके
गर्भवती महिला के लिए भोजन, आहार लिस्ट
टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के उपाय, घरेलू तरीके
उल्टी रोकने के उपाय व जी मिचलाना का इलाज
ये हैं चिकनगुनिया के लक्षण, घरेलू उपचार
बहती नाक को रोकने के घरेलू उपाय नुस्खे
पेट की गैस की अचूक दवा, घरेलू उपाय और रामबाण इलाज
कच्चा प्याज खाने के फायदे, नुकसान, औषधीय गुण, लाभ

Rating: 4.0/5. From 4 votes.
Please wait...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *