ये हैं कोलेस्ट्रॉल के लक्षण, इलाज और कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय

कोलेस्ट्रॉल के लक्षण और इसे कम करने के उपाय, इलाज, तरीके

पैरों में दर्द रहना, थकान , वजन बढ़ना और हाई ब्लड प्रेशर, ये सभी कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण हैं| कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए कई प्राकृतिक घरेलू उपाय उपलब्ध हैं जैसे लहसुन, मूली के पत्ते, आंवला, अलसी के बीज, काले चने आदि कई ऐसी घरेलू सामग्री हैं जिनके इस्तेमाल से बढ़ते कोलेस्ट्रॉल का इलाज किया जा सकता है|

High Cholesterol Ke Lakshan Symptoms

कोलेस्ट्रॉल क्या है

कोलेस्ट्रॉल एक मोम (वसा) जैसा चिकनाई युक्त पदार्थ होता है जिसका निर्माण लिवर (यकृत) में होता है| हमारे शरीर को सुचारु रूप से कार्य करने के लिए एक निश्चित मात्रा में कोलेस्ट्रॉल की जरुरत होती है|

विटामिन डी का निर्माण, पाचन रस का निर्माण और कई प्रकार के हार्मोन्स के लिए कोलेस्ट्रॉल बहुत महत्वपूर्ण होता है| कोलेस्ट्रॉल एक गाढ़ा जमने वाला पदार्थ होता है तो रक्त के माध्यम से हमारी कोशिकाओं तक पहुँचता है और अपना कार्य करके फिर वापस यकृत में चला जाता है|

कोलेस्ट्रॉल के प्रकार

कोलेस्ट्रॉल दो प्रकार का होता है –

LDL एलडीएल (कम घनत्व वाला कोलेस्ट्रॉल) – एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को खराब या खतरनाक कोलेस्ट्रॉल भी माना जाता है| जब शरीर में एलडीएल की मात्रा बढ़ने लगती है तो कोलेस्ट्रॉल रक्त वाहनियों और धमनियों में जमने लगता है जिसकी वजह से रक्त का मार्ग अवरुद्ध हो जाता है| ऐसे में रोगी को हाई ब्लड प्रेशर या हार्ट अटैक जैसी गंभीर स्थिति का सामना भी करना पड़ सकता है|

HDL एचडीएल (उच्च घनत्व वाला कोलेस्ट्रॉल) – एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को हमेशा अच्छा कोलेस्ट्रॉल माना जाता है क्यूंकि यह ख़राब कोलेस्ट्रॉल को धमनियों में जमने से रोकता है और उसे वापस यकृत में भेज देता है| यकृत खराब कोलेस्ट्रॉल को फ़िल्टर करके बाहर निकाल देता है|

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण और मुख्य कारण

हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का सबसे मुख्य कारण है हमारी दिनचर्या और हमारा खानपान, आइये नजर डालें कुछ ख़ास कारणों पर –

1. अधिक वसायुक्त भोजन खाना
2. बाहर का तला भुना भोजन नियमित रूप से खाना
3. रिफाइंड आयल या ऑयली आयल का इस्तेमाल करना
4. चिकनाई वाली चीज़ों का अधिक सेवन
5. धूम्रपान करना
6. परिवार में जेनेटिक

कोलेस्ट्रॉल के लक्षण –

1. बिना वजह थकान होना
2. उच्च रक्तचाप
3. पैरों में दर्द
4. मोटापा
5. दिल में बैचेनी आदि….

कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय और इलाज

बढ़ते कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए हम आपको कुछ देसी घरेलू इलाज के बारे में बताने जा रहे हैं जिनके इस्तेमाल से आप कोलेस्ट्रॉल को हमेशा नियंत्रित रख सकते हैं –

कच्चे लहसुन का सेवन करें

कच्चा लहसुन कोलेस्ट्रॉल के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद है| सुबह खाली पेट एक या दो कच्चे लहसुन की कली खाने से धमनियों में जमा कोलेस्ट्रॉल कम होने लगता है| आपको किसी दवाई की जरुरत नहीं है, यह नुस्खा कम से कम 15 से 30 दिन तक इस्तेमाल करें आपको फायदा खुद नजर आने लगेगा|

अखरोट का नियमित सेवन करें

अखरोट एनर्जी का भंडार है| रोजाना चार अखरोट खाने से हमारे शरीर को त्वरित एनर्जी मिलती है साथ ही इसमें कैल्शियम, मैंगनीशियम, ओमेगा थ्री, फाइबर, मैंगनीज, कॉपर और फॉसफोरस जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं|

रोजाना सुबह चार अखरोट खाने से रक्तवाहनियों में जमा कोलेस्ट्रॉल पिघलने लगता है और यह आपके खराब कोलेस्ट्रॉल को वापस यकृत तक भेजने में बहुत मददगार है इसलिए रोजाना चार अखरोट खाने की आदत डालिये|

अलसी के बीज और पाउडर का सेवन करें

अलसी के बीज भी बढ़ते कोलेस्ट्रॉल को कम करने में बहुत लाभदायक हैं| आप अलसी के बीजों का सेवन करें, या फिर अलसी के बीजों का पाउडर बनाकर रोजाना इसका सेवन करें|

अलसी का थोड़ा पाउडर लेकर उसे एक गिलास छाछ में मिला लें| इसे अच्छी प्रकार से मिलाने के बाद इसका सेवन करें| अलसी को आप अपने सब्जी में भी इस्तेमाल करें|

आंवला और एलोवेरा का जूस

रोजाना सुबह खाली पेट, एक चम्मच आंवला के रस में एक चम्मच एलोवेरा का रस मिलाकर इसका नियमित सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल का लेवल घटाया जा सकता है| आंवला में विटामिन C और साइट्रिक एसिड उच्च मात्रा में पाया जाता है जो कि कोलेस्ट्रॉल को कम करने में बहुत महत्वपूर्ण है|

विटामिन सी वाले फल खाएं

याद रखिये, जितने भी विटामिन सी और साइट्रिक एसिड युक्त फल हैं वो सभी कोलेस्ट्रॉल के रोगियों के लिए बहुत लाभदायक हैं जैसे – आंवला, अनार, नींबू, संतरा, मौसमी आदि जो भी इस प्रकार के खट्टे अर्थात साइट्रिक एसिड युक्त फल और सब्जी हैं वो सभी आपके लिए अच्छी हैं|

काले चने का सेवन करें

कला चना अक्सर ही घरों में सब्जी के रूप में खाया जाता है| काले चने में विटामिन ए, बी, सी, डी, कैल्शियम, फाइबर, आयरन, कार्बोहाइड्रेट, मैग्नीशियम और फास्फोरस जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं| जिन लोगों का कोलेस्ट्रॉल उच्च रहता है उन्हें काले चनों का सेवन करना चाहिए|

रात को एक मुट्ठी काले चने पानी में भिगोकर छोड़ दें और सुबह इन चनों को खाली पेट खाएं| साथ ही जिस पानी में चने भिगोये थे उसे फेंकें नहीं बल्कि उस पानी को भी पियें| इसके अलावा भूने चने खाना भी आपके लिए लाभदायक है|

किशमिश और बादाम का करें सेवन

रात को पानी में 10 से 12 किशमिश और 6 से 7 बादाम भिगो कर रख दें| सुबह खाली पेट बादाम और किशमिश का सेवन करें इससे भी कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद मिलती है| कोलेस्ट्रॉल के पेशेंट इनका नियमित सेवन करें, ध्यान रहे कि अगर आपको शुगर है तो किशमिश का सेवन ना करें|

नींबू और काला नमक का सेवन

नींबू में साइट्रिक एसिड बहुत प्रचुर मात्रा में होता है जिसकी वजह से यह कोलेस्ट्रॉल को कम करने में चमत्कारी रुप से लाभकारी है| सुबह खाली पेट एक गिलास पानी में एक नींबू का रस निचोड़ें और इसमें अपने स्वादानुसार काला नमक मिला लें| अब इस घोल का सेवन करें|

सरसों के तेल का इस्तेमाल करें

हमारे भारतवर्ष में सबसे ज्यादा सरसों के तेल का इस्तेमाल किया जाता है परन्तु पिछले कुछ सालों में लोगों ने अन्य कई प्रकार के घी, रिफाइंड और अन्य ऑइली आयल का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है जिसकी वजह से लोगों में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की शिकायतें भी बढ़ने लगी हैं|

सरसों के तेल में मोनोअनसैचुरेटिड फैट और साथ ही पाली अनसैचुरेटिड फैटी एसिड भी बहुत उच्च मात्रा में पाया जाता है जो स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत लाभदायक है| अगर आपको कोलेस्ट्रॉल की समस्या है तो हमेशा सरसों के तेल का ही इस्तेमाल करें|

अर्जुन की छाल का इस्तेमाल करें

अर्जुन के पेड़ की छाल को कई प्रकार के रोगों के इलाज में प्रयोग किया जाता है| अर्जुन की छाल आपको किराने की दुकान पर बाजार में आसानी से मिल जाएगी|

थोड़ी सी अर्जुन की छाल लेकर उसे एक गिलास पानी में डालें और इस पानी को गर्म करें| इसे तब तक गर्म करें, जब तक यह पानी उबलकर आधा ना रह जाए| अब इसको ठंडा होने दें, ठंडा होने पर इस काढ़े को चाय की तरह पियें, इससे बढ़ता हुआ कोलेस्ट्रॉल घटता है|

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर रखें ये सावधानियां

तेल को कभी दोबारा गर्म ना करें – अक्सर घरों में देखा जाता है कि खाना बनाने के बाद जब कढ़ाई में जो तेल बच जाता है उसे महिलाएं अगले दिन फिर से गर्म करके इस्तेमाल करने लगती हैं| याद रखें, तेल को दोबारा गर्म करने से उसमें टॉक्सिक यानि जहरीले तत्व पैदा हो जाते हैं| अगर तेल बच गया है तो इसे मालिश के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं परन्तु दोबारा गर्म करके खाने में इस्तेमाल ना करें यह कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने का सबसे बड़ा कारण है|

रिफाइंड और डालडा का इस्तेमाल ना करें – रिफाइंड और डालडा ये भी दोबारा प्रोसैसिंग हुए तेल हैं और ये सभी कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाते हैं| इसलिए किसी भी प्रकार के डालडा और रिफाइंड का इस्तेमाल करना बंद कर दें|

मांस का सेवन ना करें – मांस आपके कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने के लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार है| मांस चाहें किसी भी पशु का हो, हर प्रकार के मांस में बहुत अधिक मात्रा में कोलेस्ट्रॉल पाया जाता है| इसलिए मांस का सेवन करना तुरंत बंद कर दें|

कोलेस्ट्रॉल के बारे में कुछ गलतफहमियां

कुछ लोगों के मन में कोलेस्ट्रॉल को लेकर कई प्रकार की गलतफहमियां हैं जैसे –

1. कई लोग मानते हैं कि गाय का घी कोलेस्ट्रॉल बढ़ाता है परन्तु ऐसा नहीं है शुद्ध गाय का घी कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ाता|
2. कुछ लोग कहते हैं कि पतले लोगों का कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ता परन्तु ऐसा नहीं है, सामान्य वजन वाले लोगों को भी इसका ध्यान रखना चाहिए|
3. कोलेस्ट्रॉल जेनेटिक है.. जी हाँ कोलेस्ट्रॉल जेनेटिक है लेकिन अगर आपका खानपान सही है तो आपको कभी कोलेस्ट्रॉल की शिकायत नहीं होगी|
4. कुछ लोग मानते हैं कि बिना दवा के कोलेस्ट्रॉल कम नहीं हो सकता परन्तु व्यायाम और घरेलू नुस्खों से बिना दवा भी इसका उपचार किया जा सकता है|

तो मित्रों इस लेख में हमने आपको कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के कारण और इसके उपचार के बारे में विस्तार से बताया है| हमें पूरी आशा है कि आपको हमारे इस लेख से बहुत अधिक फायदा होगा| अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो इसे अपने फेसबुक और ट्विटर पर भी शेयर करें ताकि आपके सगे सम्बन्धी और मित्र भी इसका लाभ उठा सकें| धन्यवाद!!

घरों में काम आने वाले देसी नुस्खे –
हाई बीपी का इलाज, दवा, घरेलू उपचार
धूम्रपान छोड़ने के उपाय, दवा और गारंटीड तरीके
गर्भवती महिला के लिए भोजन, आहार लिस्ट
101% टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के उपाय, घरेलू तरीके
उल्टी रोकने के उपाय व जी मिचलाना का इलाज
ये हैं चिकनगुनिया के लक्षण, घरेलू उपचार
बहती नाक को रोकने के घरेलू उपाय नुस्खे
पेट की गैस की अचूक दवा, घरेलू उपाय
कच्चा प्याज खाने के फायदे, नुकसान
ग्रीन कॉफी पीने का सही समय और इसके फायदे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 − eleven =